तुम कहाँ गये ??

छोड़ के आए थे हम
उसके आँगन में अपनी खुशबू
आज फिर जब लौटे हैं मिले
बस काँटे तितर बितर….

कहती है माँ देखा करती थी वो
रस्ता मेरा चारों पहर
सोती थी मायूस सी होकर
चिट्ठी मेरी जो मिली नही अगर..

लौट के आया था लेकर
फूल सत्ररंगी उसके लिए
सोचा था ख़ुश होगी वो
भुला देगी देर हो गयी गर…

बोला मुझको गाँव का बूड़ा
देखा जिसने था मेरा बचपन
मेरी यादों की परछाई से
बाहर कभी वो निकली नही….

ना ये पता था मुझको ए दिल
मिट्टी में थी वो मिली हुई…

कहते हैं अख़िरी बार पुकारा था
जब उसने मेरा नाम लबों से
आसमान भी बरस पड़ा था..
आसमान था बस था ना मैं गर…

कल कुछ फूल उसकी क़ब्र
पे रख के लौटा हूँ
साथ में अपनी मय्यत का
सामान भी लेकर लौटा हूँ

दूर गगन से मुझको पुकारता है कोई….

Advertisements

About Gayatri

A storyteller. Poetry, fiction, Travel tales, CSR, Parenting, Images. Writing the bestseller called Life. Communication strategist. Freelance writer. Candid photographer @ImaGeees. I travel, thus I write. I write, therefore I am. Please mail at imageees@gmail.com for writing/photography assignments.
यह प्रविष्टि कविता में पोस्ट की गई थी। बुकमार्क करें पर्मालिंक

4 Responses to तुम कहाँ गये ??

  1. Piyush k Mishra कहते हैं:

    beshabd hoon Di!!

    Like

  2. Afroz कहते हैं:

    I dont wanna comment coz I cant

    just speechless

    Like

  3. Falguni कहते हैं:

    kaise itni asaani se express kar paati hain aap and approrpiately

    so true for people like us who are so far from our families..especially old parents who are not with us..

    we just keep on praying and keep our fingers crossed ki aisa waqt na aaye hamari life mein…

    Like

  4. Manali Chakravarty कहते हैं:

    bilkul aisa hi lagta hai jab koi apna chala jata hai……..
    sahi expressions daalna koi aapse sikhe…
    waise puri kavita hi bahut hi achhi hai.ek kahani hai is mein…

    Like

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s